Browsing Category

संपादकीय

…तो क्या तालिबानी रास्ते पर चल पड़े निहंग!

-देवेंद्र गौतम सिंघु बार्डर पर लखबीर सिंह की हत्या के बाद संयुक्त किसान मोर्चा और निहंगों के बीच दरार पड़ गई है। किसान जहां तीन कृषि कानूनों के विरोध के आंदोलन को शांतिपूर्ण और अहिंसक बनाए रखने पर जोर दे रहे हैं वहीं निहंगों ने हिंसा और…

अंधेरी सुरंग में बढ़ते कदम

-देवेंद्र गौतम 2014 के बाद व्यवस्था में जो बदलाव लाए गए उनकी या तो अतिरंजित प्रशंसा की जा रही है या फिर पूर्वाग्रह जनित आलोचना। उनकी समीक्षा नहीं के बराबर की जा रही है। तराजू का कोई एक पलड़ा जबरन झुकाया हुआ रहता है। इस बदलाव को इसकी…

हाल रांची रक्षा शक्ति विश्विद्यालय का

रांची । देश की आंतरिक और बाहरी सुरक्षा को मजबूत करने व कानून प्रवर्तन एजेंसी को ठोस आधार देने लिये भारतीय रक्षा मंत्रालय ने झारखण्ड सरकार की मांग पर रांची में 2016 में इस विश्वविद्यालय की स्थापना को मंजूरी दी । यह देश का ऐसा तीसरा…

माओवादी हमलाः बारूद के ढेर पर वार्ता की पेशकश

-देवेंद्र गौतम सीआरपीएफ की कोबरा बटालियन के जवान राकेश्वर सिंह मिन्हास नक्सलियों की कैद में हैं। उन्हें छुड़ाने के लिए विंग कमांडर अभिनंदन जैसी कोई कार्रवाई करने की मांग हो रही है। उनका चार साल की बेटी का पिता को छोड़ देने का मार्मिक…

गृह राज्यों की सरकारें भी करें प्रवासी मजदूरों की चिंता

-देवेंद्र गौतम आज लॉकडाउन-1 के अंतिम दिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के देश के नाम संदेश में 3 मई तक लॉकडाउन के विस्तार की घोषणा की। इसके बाद भी कई महानगरों में प्रवासी मजदूरों की भीड़ रेलवे स्टेशनों की ओर उमड़ पड़ी। रेलवे के चालू होने की…

कोरोना कालःसामाजिक दूरी ने बढ़ा दी भावनात्मक दूरी

-देवेंद्र गौतम कोरोना वायरससे लड़ाई में लॉकडाउन के साथ सामाजिक दूरी का विशेष महत्व है। इसका भरसक पालन भी किया जा रहा है। लेकिन देखा यह जा रहा कि सामाजिक दूरी से कहीं अधिक भावनात्मक दूरी बढ़ती जा रही है। वाराणसी का एक युवक मुंबई के एक…

बाजार की मनमानी पर अंकुश लगाए सरकार

-देवेंद्र गौतम बाजार पर सरकार का नियंत्रण कितना जरूरी है यह कोरोना वायरस के खिलाफ जंग के दौरान समझ में आ रहा है। सरकार ने मास्क और हैंड सेनिटाइजर को आवश्यक वस्तुओं की सूची में शामिल किया है। इनकी अधिकतम विक्रय मूल्य भी निर्धारित कर दी…

झारखंडः हिंदुत्व की नहीं अहंकार की हार

देवेंद्र गौतम झारखंड में भाजपा की चुनावी हार मोदी-शाह की जोड़ी के लिए बहुत बड़ा झटका है। इस खनिज बहुल राज्य में मोदी जी के कार्पोरेट मित्रों को देने के लिए उपहार भरे हुए थे। इसीलिए अन्य किसी भी राज्य की तुलना में उन्हें झारखंड प्रिय था।…

मोदी की लुटिया डुबोकर ही मानेंगे मोटाभाई

देवेंद्र गौतम आज पूरे देश में नागरिकता कानून को लेकर बवाल मचा हुआ है। लोग सड़कों पर हैं। इस माहौल को तैयार करने में सिर्फ अमित शाह की भूमिका है। एक समुदाय विशेष को घुसपैठियों को खदेड़ना उनका पुराना लक्ष्य रहा है। मोदी ने घुसपैठ पर…

वामपंथ का रूढ़िवाद

देवेंद्र गौतम किसी विचार को अंतिम सत्य मान लेना या लकीर का फकीर हो जाना ही रूढ़िवाद कहलाता है। जब किसी विचारधारा की प्रासंगिकता की पड़ताल बंद कर दी जाती है और समें किसी तरह के संशोधन से इनकार कर दिया जाता है तो उसका रूढ़ हो जाना तय होता…