भाजपा और संघ के दुष्प्रचार को करें बेनकाबः सोनिया गांधी

पार्टी में नीतिगत मुद्दों पर स्पष्टता व समन्वय की जरूरत

0 57

नयी दिल्ली। पांच राज्यों के विधानसभा चुनावों की तैयारी को लेकर कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्षों, महासचिवों और प्रभारियों की बैठक को संबोधित किया। उन्होंने पार्टी के भीतर अनुशासन एवं एकजुटता बनाए रखने पर जोर दिया। उन्होंने कहा कि पार्टी में राज्य स्तर के नेताओं के बीच नीतिगत मुद्दों पर स्पष्टता एवं समन्वय का अभाव दिखता है। पार्टी महासचिवों, प्रदेश प्रभारियों और प्रदेश अध्यक्षों की बैठक में उन्होंने केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार पर जमकर निशाना साधा। पार्टी नेताओं एवं कार्यकर्ताओं का आह्वान किया कि अगर लड़ाई जीतनी है तो जनता के समक्ष भाजपा तथा राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के दुष्प्रचार एवं झूठ को बेनकाब करना होगा। उन्होंने कहा कि हमें भाजपा और आरएसएस के द्वेषपूर्ण दुष्प्रचार के खिलाफ लड़ना है।

पुस्तकः विश्व की प्राचीनतम सभ्यता लेखकः पं. अनूप कुमार वाजपेयी,कई पुरस्कारों से पुरस्कृत समीक्षा प्रकाशन, दिल्ली, मुजफ्फरपुर, मूल्य-2000 रुपये लेखक ने राजमहल पहाड़ियों और चट्टानों पर संसार के प्राचीनतम आदिमानव के पदचिन्ह ढूंढ निकाले। पता-वाजपेयी निलयम, नया पारा, दुमका झारखंड

पुस्तकः विश्व की प्राचीनतम सभ्यता लेखकः पं. अनूप कुमार वाजपेयी,कई पुरस्कारों से पुरस्कृत समीक्षा प्रकाशन, दिल्ली, मुजफ्फरपुर, मूल्य-2000 रुपये लेखक ने राजमहल पहाड़ियों और चट्टानों पर संसार के प्राचीनतम आदिमानव के पदचिन्ह ढूंढ निकाले। पता-वाजपेयी निलयम, नया पारा, दुमका झारखंड

सोनिया गांधी ने कहा कि अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी विभिन्न मुद्दों पर महत्वपूर्ण और विस्तृत बयान जारी करती है। लेकिन प्रखंड और जिला स्तर के कार्यकर्ताओं तक यह नहीं पहुंचता। नीतिगत मुद्दों पर पर स्पष्टता एवं समन्वय का अभाव दिखता। यह हमारे राज्य स्तर के नेताओं के बीच भी है। उन्होंने पार्टी नेताओं से कार्यकर्ताओं को चुनावी लड़ाई के लिए प्रशिक्षित करने को कहा।

उन्होंने आरोप लगाया कि मोदी सरकार अपनी जवाबदेही से बचने के लिए तमाम संस्थाओं को नष्ट करने का प्रयास कर रही है। उसने संविधान के आधारभूत मूल्यों को कमजोर करने का प्रयास किया है ताकि वह खुद के लिए निचले स्तर के लिए मानक रख सके। उसने हमारे लोकतंत्र की बुनियादी बातों को सवालों को घेरे में खड़ा किया है।”

 

सभी तबकों को देनी होगी भागीदारी

कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि हमें सरकार के दमन के शिकार पीड़ितों के लिए अपनी लड़ाई को दोगुनी ताकत देनी चाहिए, चाहे वह हमारे किसान और खेतिहर मजदूर हों, रोजगार के लिए लड़ते युवा हों, छोटे एवं मझोले कारोबारी हों या फिर हमारे वंचित भाई-बहन हों। उन्होंने यह भी कहा कि इस वादे को सही मायने में सार्थक बनाने के लिए संगठन में समाज के सभी हिस्सों को ज्यादा प्रतिनिधित्व देना होगा।

सोनिया ने पांच राज्यों के विधानसभा चुनाव का उल्लेख करते हुए कहा कि आने वाले महीनों में पांच राज्यों में विधानसभा चुनाव होने वाले हैं। इन राज्यों में कांग्रेस पार्टी के कार्यकर्ता और नेता कमर कस रहे हैं। हमारा चुनाव अभियान समाज के सभी तबकों के साथ चर्चा के बाद सामने आई ठोस नीतियों एवं कार्यक्रमों के आधार पर होना चाहिए। उन्होंने कहा कि पार्टी में अनुशासन और एकजुटता की जरूरत है। संगठन को मजबूत करना जरूरी है। यह व्यक्तिगत आकांक्षाओं से ऊपर होना चाहिए। इसी में सामूहिक और व्यक्तिगत दोनों सफलताएं निहित हैं।

 पार्टी मुख्यालय में हुई इस बैठक में कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी, पार्टी महासचिव प्रियंका गांधी वाद्रा, संगठन महासचिव केसी वेणुगोपाल तथा अन्य महासचिव, प्रभारी एवं प्रदेश कांग्रेस कमेटियों के अध्यक्ष शामिल हुए। यह बैठक कांग्रेस कार्य समिति की बैठक में सदस्यता अभियान, महंगाई के मुद्दे पर जन-जागरण अभियान तथा संगठनात्मक चुनाव के तय किये गए कार्यक्रमों की पृष्ठभूमि में हुई है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: