कृषि अध्यादेशों के खिलाफ प्रदर्शन कर किसान नेताओं ने दी गिरफ्तारी

0 256

राष्ट्रीय किसान महासंघ के प्रमुख किसान नेता एवम सैंकड़ों किसानों ने आज दिल्ली में जंतर मंतर पर कृषि अध्यादेशों के खिलाफ प्रदर्शन किया। प्रदर्शन कर रहे किसानों को पुलिस ने गिरफ्तार कर के मंदिर मार्ग पुलिस स्टेशन में रखा है। देश के प्रमुख गैर-राजनीतिक किसान नेताओं शिव कुमार कक्काजी (मध्यप्रदेश), जगजीत सिंह दल्लेवाल (पंजाब), हरपाल चौधरी बिलारी (उत्तरप्रदेश), संतवीर सिंह, रंजीत राजू, इंदरजीत पन्नीवाला (राजस्थान), अभिमन्यु कोहाड़ (हरियाणा) समेत सैंकड़ों किसानों ने गिरफ्तारी दी है। 

पुस्तकः विश्व की प्राचीनतम सभ्यता लेखकः पं. अनूप कुमार वाजपेयी,कई पुरस्कारों से पुरस्कृत समीक्षा प्रकाशन, दिल्ली, मुजफ्फरपुर, मूल्य-2000 रुपये लेखक ने राजमहल पहाड़ियों और चट्टानों पर संसार के प्राचीनतम आदिमानव के पदचिन्ह ढूंढ निकाले। पता-वाजपेयी निलयम, नया पारा, दुमका झारखंड

पुस्तकः विश्व की प्राचीनतम सभ्यता लेखकः पं. अनूप कुमार वाजपेयी,कई पुरस्कारों से पुरस्कृत समीक्षा प्रकाशन, दिल्ली, मुजफ्फरपुर, मूल्य-2000 रुपये लेखक ने राजमहल पहाड़ियों और चट्टानों पर संसार के प्राचीनतम आदिमानव के पदचिन्ह ढूंढ निकाले। पता-वाजपेयी निलयम, नया पारा, दुमका झारखंड

किसानों की प्रमुख मांगें निम्न हैं –
1). तीनों किसान विरोधी कृषि अध्यादेशों को वापस लिया जाए।
2). न्यूनतम समर्थन मूल्य पर फसलों की खरीद की गारंटी का कानून बनाया जाए।
3). स्वामीनाथन आयोग के C2+50% फॉर्मूले के अनुसार फसलों का MSP दिया जाए।
4). किसानों को पूर्ण कर्जमुक्त किया जाए।

आज दिल्ली में पुलिस ने चारों तरफ से नाकेबंदी कर रखी थी लेकिन उसके बावजूद पुलिस को चकमा देकर सैंकड़ों किसानों ने दिल्ली पहुंच कर अपनी गिरफ्तारी दी। राष्ट्रीय किसान महासंघ के नेताओं ने एक आवाज़ में कहा कि जब तक कृषि अध्यादेशों को वापस नहीं लिया जाएगा तब तक देशव्यापी किसान आंदोलन जारी रहेगा। किसान नेताओं ने ये भी कहा कि जो सांसद कृषि अध्यादेशों के पक्ष में और किसानों के खिलाफ संसद में मतदान करेंगे, किसान उनके खिलाफ उनकी लोकसभाओं में प्रचार करें.r

Leave A Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: