फोड़ना था फड़नवीस को नवाब मलिक ने फोड़ दिया बम

0 61
  • क्रूज ड्रग्स मामला

मुंबई। देवेंद्र फडनवीस ने दिवाली के बाद नवाब मलिक पर आरोपों का बम फोड़ने की चेतावनी दी थी। उनका कहना था कि वे नवाब मलिक के अंडरवर्ल्ड कनेक्शन का खुलासा करेंगे। लेकिन दृश्य बदल गया और वे चूक गए। इस बीच जिस वानखेड़े के पक्ष में वे खड़े थे उन्हें मामले की जांच से हटा दिया गया। पांच राज्यों के आगामी विधानसभा चुनावों को देखते हुए भाजपा भी उनका खुलकर बचाव नहीं कर पा रही है। खासतौर पर उपचुनावों में अधिकांश सीटों पर हार के बाद पार्टी कोई जोखिम लेना नहीं चाहती। इस स्थिति में फडनवीस का बम तो अभी तक नहीं फूटा लेकिन नवाब मलिक ने अपने आरोपों के पिटारे से नए बम का विस्फोट कर दिया। शनिवार को महाराष्‍ट्र सरकार में मंत्री नवाब मलिक ने ट्वीट करके आरोप लगाया कि आर्यन खान को समीर दाऊद वानखेड़े ने किडनैप किया था और उनसे फिरौती मांगी थी। नवाब मलिक के आरोपों का यह ‘बम’ ठीक दिवाली के बाद फूटा है। हालांकि, महाराष्‍ट्र के पूर्व सीएम और बीजेपी नेता देवेंद्र फडणवीस ने 1 नवंबर को ट्वीट करके कहा था कि दिवाली के बाद वह बड़ा धमाका करेंगे। लेकिन शुरुआत नवाब मलिक ने कर दी है।
मलिक ने शनिवार सुबह के अपने ट्वीट में लिखा, ‘समीर दाऊद वानखेड़े ने आर्यन खान को अगवा किया और फ‍िरौती मांगी। इस मामले की जांच के लिए मैंने एसआईटी गठित करने की मांग की थी, लेकिन अब दो स्पेशल इन्वेस्टिगेटिंग टीम बनाई गई हैं। एक टीम केंद्र सरकार की तरफ से बनाई गई है, जबकि दूसरी राज्य सरकार की तरफ से। अब देखना यह होगा कि कौन सबसे पहले इस पूरे मामले की तह तक जाकर असलियत जनता के सामने लाती है।’

हालांकि, इस मामले को लेकर सुर्खियों में रहे समीर वानखेड़े अब आर्यन खान केस की जांच नहीं कर रहे हैं। नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो के अधिकारी समीर वानखेड़े को आर्यन खान समेत छह मामलों की जांच से अलग कर दिया गया है। अब इस मामले की जांच दिल्ली के अधिकारी आईपीएस संजय कुमार सिंह करेंगे।

समीर वानखेड़े पर नवाब मलिक ने कई गंभीर आरोप लगाए थे। जिसके बाद उनकी की तरफ से इन आरोपों को गलत और बेबुनियाद बताया गया था। गिरफ्तारी से बचने के लिए भी वे बॉम्बे हाईकोर्ट की शरण में गए थे। जहां पर उनकी गिरफ्तारी से 72 घंटे पहले जानकारी देने का आदेश अदालत ने दिया था।
नवाब मलिक ने महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री और मौजूदा नेता प्रतिपक्ष देवेंद्र फडणवीस पर भी बेहद संगीन आरोप लगाए थे। मलिक ने कहा था कि मुंबई, महाराष्ट्र और गोवा में ड्रग्स का कारोबार देवेंद्र फडणवीस के संरक्षण में किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि आने वाले दिनों में इस मामले की भी जांच करवाई जाएगी।

Leave A Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: