यूपी में नारी ब्रिगेड को मैदान में उतारेंगी प्रियंका

उन्नाव और हाथरस कांड को बनाएंगी चुनावी मुद्दा

0 75

लखनऊ। उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में कांग्रेस महिला ब्रिगेड को मैदान में उतारेगी। कांग्रेस की उत्तर प्रदेश प्रभारी प्रियंका गांधी ने घोषणा की है कि कांग्रेस चालीस फीसद टिकट महिलाओं को देगी। अर्थात कुल 403 विधानसभा सीटों में से 161 सीटें नारी शक्ति को मिलेंगी। प्रियंका ने कहा कि यूपी में महिलाओं की भागीदारी बढ़ेगी तो राष्ट्रीय स्तर पर भी बढ़ेगी। उन्होंने स्वयं चुनाव लड़ने का अभी निर्णय नहीं लिया है।

पुस्तकः विश्व की प्राचीनतम सभ्यता लेखकः पं. अनूप कुमार वाजपेयी,कई पुरस्कारों से पुरस्कृत समीक्षा प्रकाशन, दिल्ली, मुजफ्फरपुर, मूल्य-2000 रुपये लेखक ने राजमहल पहाड़ियों और चट्टानों पर संसार के प्राचीनतम आदिमानव के पदचिन्ह ढूंढ निकाले। पता-वाजपेयी निलयम, नया पारा, दुमका झारखंड

पुस्तकः विश्व की प्राचीनतम सभ्यता लेखकः पं. अनूप कुमार वाजपेयी,कई पुरस्कारों से पुरस्कृत समीक्षा प्रकाशन, दिल्ली, मुजफ्फरपुर, मूल्य-2000 रुपये लेखक ने राजमहल पहाड़ियों और चट्टानों पर संसार के प्राचीनतम आदिमानव के पदचिन्ह ढूंढ निकाले। पता-वाजपेयी निलयम, नया पारा, दुमका झारखंड

प्रियंका के इस दांव की काट भाजपा और सपा के लिए मुश्किल होगी। मुख्य संघर्ष में होने के कारण उनके टिकट के लिए पहले से ही मारामारी है। भाजपा के पास 304 विधायक हैं। वह कई विधायकों के टिकट काटने पर विचार कर रही है। लेकिन 40 फीसद टिकट महिलाओं को देना उसके लिए असंभव है। सपा के पास 49 विधायक हैं। वह महिलाओं की भागीदारी बढ़ा सकती है लेकिन उस हद तक नहीं। बसपा के पास 16 विधायक हैं। लेकिन उसके मुख्य संघर्ष में आने की संभावना कम है। कांग्रेस भी मुख्य संघर्ष में ती नहीं दिख रही है लेकिन प्रियंका के चेहरे और उसके नारी शक्ति के दांव का उसे भरपूर लाभ मिल सकता है। सपा उत्तर प्रदेश में सरकार बनाने का दावा कर रही है। लेकिन योगी सरकार के पांच वर्षों के कार्यकाल तक लगभग निष्क्रिय रहने के बाद अखिलेश यादव जनता का कितना भरोसा जीत पाएंगे, कहना कठिन है।

बहरहाल प्रियंका ने नया नारा दिया है- ‘लड़की हूं लड़ सकती हूं।’ उनका कहना है कि उन्होंने यह फैसला उन्नाव की उस लड़की के लिए है, जिसे जलाकर मारा गया। हाथरस की उस लड़की के लिए है, जिसे न्याय नहीं मिला।
आमतौर पर राजनेता और राजनीतिक दल परिवारवाद को राजनीतिक रोग मानते हैं और इससे इनकार करते हैं। इसके उलट प्रियंका परिवारवाद का भी खुला समर्थन कर रही हैं। उन्होंने साफ कहा कि असरदार नेता यदि अपने परिवार की महिलाओं को ही टिकट दिलाने के लिए लॉबिंग करेंगे तो इसमें कोई हर्ज नहीं है। मेरिट के आधार पर टिकट दिया जाएगा। पार्टी एक-दो दिन में 50 से 60 सीटों पर प्रत्याशी के नाम की घोषणा कर सकती है। इसके साथ ही कांग्रेस की प्रतिज्ञा यात्रा को लेकर भी कार्यक्रम जारी किया जा सकता है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: