पार्षद उर्मिला यादव की पहल पर हुई मजदूर की घर वापसी

0 174

रांची। चक्रधरपुर अनुमंडल अंतर्गत केरा मंदिर क्षेत्र के निवासी वीरेंद्र सोनी नामक एक मजदूर को रांची नगर निगम वार्ड संख्या 41 की पार्षद उर्मिला यादव की पहल पर उसके गंतव्य तक पहुंचाने की व्यवस्था प्रशासनिक स्तर पर की गई। इस संबंध में वार्ड पार्षद उर्मिला यादव ने बताया कि उक्त मजदूर उनके वार्ड कार्यालय के समीप थका-हारा बैठा हुआ था। उसके चेहरे पर चोट के निशान थे। उसने पूछताछ के दौरान कहा कि वह त्रिपुरा में निजी क्षेत्र के एक प्रतिष्ठान में काम करता था। लाॅकडाउन में प्रतिष्ठान बंद होने के कारण उसे उसके मालिक ने जवाब दे दिया। इसके बाद उसने अपने घर चक्रधरपुर लौट जाने का निर्णय लिया। परिवहन की कोई व्यवस्था नहीं होता देख, वह पैदल ही वहां से चल पड़ा। उसने बताया कि लगभग 45 दिनों के बाद वह इस जगह पहुंचा। इस दौरान उसे कई जगहों पर बदमाशों ने तंग भी किया। उसके सामान और पैसे भी छीन लिए। उसकी व्यथा सुनकर पार्षद उर्मिला यादव ने उसे भोजन-पानी कराया। उसकी समुचित देखभाल की। तत्पश्चात जगन्नाथपुर थाना को सूचित किया। मौके पर जगन्नाथपुर थानेदार अभय कुमार सिंह पहुंचे और पीड़ित मजदूर से उन्होंने भी पूछताछ की। इसके बाद उन्होंने नगड़ी के अंचलाधिकारी से संपर्क कर उन्हें वस्तुस्थिति की जानकारी देते हुए मजदूर को उसके गंतव्य तक भेजने की व्यवस्था करने का अनुरोध किया। इस मौके पर समाजसेवी पप्पू चक्रवर्ती, शिव कुमार, ब्रजेश कुमार, एनके यादव सहित कई सामाजिक कार्यकर्ता मौजूद थे।

पुस्तकः विश्व की प्राचीनतम सभ्यता लेखकः पं. अनूप कुमार वाजपेयी,कई पुरस्कारों से पुरस्कृत समीक्षा प्रकाशन, दिल्ली, मुजफ्फरपुर, मूल्य-2000 रुपये लेखक ने राजमहल पहाड़ियों और चट्टानों पर संसार के प्राचीनतम आदिमानव के पदचिन्ह ढूंढ निकाले। पता-वाजपेयी निलयम, नया पारा, दुमका झारखंड

पुस्तकः विश्व की प्राचीनतम सभ्यता लेखकः पं. अनूप कुमार वाजपेयी,कई पुरस्कारों से पुरस्कृत समीक्षा प्रकाशन, दिल्ली, मुजफ्फरपुर, मूल्य-2000 रुपये लेखक ने राजमहल पहाड़ियों और चट्टानों पर संसार के प्राचीनतम आदिमानव के पदचिन्ह ढूंढ निकाले। पता-वाजपेयी निलयम, नया पारा, दुमका झारखंड

Leave A Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: