भाजपा की सत्तालोलुपता उजागर हुई : दीपक लाल

0 160

रांची। झारखंड प्रदेश कांग्रेस कमेटी के पूर्व आमंत्रित सदस्य और शहर के जाने-माने सामाजिक कार्यकर्ता दीपक लाल ने कहा है कि महाराष्ट्र में चल रहे सियासी उठापटक और सत्ता के लिए शह-मात के खेल में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का मैजिक फेल हो गया। अमित शाह की चाणक्य नीति भी कारगर नहीं हो सकी। महाराष्ट्र में सत्ता के खेल में भाजपा की सत्तालोलुपता उजागर हो गई है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने येन- केन- प्रकारेण लोकतांत्रिक मर्यादाओं के खिलाफ महाराष्ट्र की सत्ता पर काबिज होने कि तिगड़म की थी, जो विफल हो गया। महाराष्ट्र प्रकरण ने भाजपा के चाल, चेहरे और चरित्र को पूरी तरह उजागर कर दिया है। देश की जनता अब जान चुकी है कि भाजपा सत्ता हासिल करने के लिए लोकतंत्र की गला घोंटने से भी गुरेज नहीं करती है। खरीद-फरोख्त की राजनीति के तहत महाराष्ट्र में जिस तरह भाजपा ने सियासी ड्रामा किया, इससे यह स्पष्ट जाहिर हो गया है कि भाजपा सत्ता हासिल करने के लिए किसी भी हद तक जा सकती है। संवैधानिक और लोकतांत्रिक मूल्यों की गरिमा को तार-तार करते हुए भाजपा सिर्फ अपने स्वार्थ सिद्धि के लिए दूसरे दलों के विधायकों को अपने साथ मिलाने के लिए हॉर्स ट्रेडिंग का सहारा लेती रही है। इसके पूर्व भी झारखंड में सरकार बनाने के लिए भाजपा ने जो हथकंडे अपनाए थे, वह जगजाहिर है। उन्होंने कहा कि सांप्रदायिक ताकतों का सहारा लेते हुए भाजपा शुरू से ही लोकतांत्रिक व्यवस्था के विरुद्ध कार्य करती रही है। जनता उनकी मंशा से वाकिफ हो चुकी है। महाराष्ट्र प्रकरण में भाजपा की भूमिका का असर झारखंड विधानसभा चुनाव में भी होगा। उन्होंने कहा कि झारखंड से आगामी चुनाव में भाजपा का सफाया तय है। यहां विपक्षी महागठबंधन की सरकार व्यापक जनसमर्थन से बनेगी।

पुस्तकः विश्व की प्राचीनतम सभ्यता लेखकः पं. अनूप कुमार वाजपेयी,कई पुरस्कारों से पुरस्कृत समीक्षा प्रकाशन, दिल्ली, मुजफ्फरपुर, मूल्य-2000 रुपये लेखक ने राजमहल पहाड़ियों और चट्टानों पर संसार के प्राचीनतम आदिमानव के पदचिन्ह ढूंढ निकाले। पता-वाजपेयी निलयम, नया पारा, दुमका झारखंड

पुस्तकः विश्व की प्राचीनतम सभ्यता लेखकः पं. अनूप कुमार वाजपेयी,कई पुरस्कारों से पुरस्कृत समीक्षा प्रकाशन, दिल्ली, मुजफ्फरपुर, मूल्य-2000 रुपये लेखक ने राजमहल पहाड़ियों और चट्टानों पर संसार के प्राचीनतम आदिमानव के पदचिन्ह ढूंढ निकाले। पता-वाजपेयी निलयम, नया पारा, दुमका झारखंड

Leave A Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: