प्रशांत भूषण के समर्थन में कोयला मजदूर यूनियन

0 194

निरसा। कोयला मजदूरों के जागरूक प्रतिनिधियों ने यूनियन कार्यालय सेंट्रल पुल में मजदूर नेता उपेंद्र सिंह की अगुआई में शॉर्ट मीटिंग की जिसमें वरिष्ठ वकील प्रशांत भूषण को प्रधान न्यायाधीश सुप्रीम कोर्ट द्वारा अवमानना के अभियोग में सजा देने के निर्णय पर चिंता व्यक्त की और इसके विरोध में देश ब्यापी विरोध के साथ खुद को खड़ा किया। ना माफी ना सजा की आवाज दी गयी। भूषण को न्याय व्यवस्था और लोकतांत्रिक व्यवस्था के मजबूत स्तंभ के रूप में स्वीकार किया गया।

पुस्तकः विश्व की प्राचीनतम सभ्यता लेखकः पं. अनूप कुमार वाजपेयी,कई पुरस्कारों से पुरस्कृत समीक्षा प्रकाशन, दिल्ली, मुजफ्फरपुर, मूल्य-2000 रुपये लेखक ने राजमहल पहाड़ियों और चट्टानों पर संसार के प्राचीनतम आदिमानव के पदचिन्ह ढूंढ निकाले। पता-वाजपेयी निलयम, नया पारा, दुमका झारखंड

पुस्तकः विश्व की प्राचीनतम सभ्यता लेखकः पं. अनूप कुमार वाजपेयी,कई पुरस्कारों से पुरस्कृत समीक्षा प्रकाशन, दिल्ली, मुजफ्फरपुर, मूल्य-2000 रुपये लेखक ने राजमहल पहाड़ियों और चट्टानों पर संसार के प्राचीनतम आदिमानव के पदचिन्ह ढूंढ निकाले। पता-वाजपेयी निलयम, नया पारा, दुमका झारखंड

इसके साथ ही देश के श्रम कानूनों को सीमित करने और उन्हें कोड में संकलित कर संकुचित करने की लुकाछिपी खेल में ड्राफ्ट पर मंत्रालय ने रॉय तो जरूर मांगी और सबों ने हमारे एक्टू ने भी उसकी केंद्रीय परिषद ने राय भेजी पर बावजूद विस्तार विचार विमर्श के बाद भी जो ड्राफ्ट फाइनल किया गया उसमें सारी आलोचनाएं करीब करीब किनारे कर दी गयीं और १९२० से अब तक, आजादी के पूर्व से अब तक विभिन्न सरकारों के समय जितनी भी बातें मूलतः मजदूर हित की थी सबों को विलोपित कर दिया गया और हमने अपनी प्रतिक्रिया दर्ज कर दी है नियोजक को खुली छूट नहीं दी जा सकती ना हीं कॉर्पोरेट औद्योगिक देश बनाने की छूट हम केंद्र की सरकार को मंत्रालय को दे सकते हैं। हम फैक्ट्रियों मे अंदर बाहर खदानों में और सड़कों मे लड़ाई में रहे हैं आगे भी रहेंगे। मीटिंग में एरिया सेक्रेट्री जगदीश शर्मा लखिमता सेक्रेट्री और सेंट्रल पुल के मजदूरों के प्रधान उपस्थित थे।

Leave A Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: