साहित्य सेवी सम्मान से नवाज़े जाएंगे मृत्युंजय कुमार सिंह

0 553

देवघर। देवघर में चल रहे 19वें पुस्तक मेला में इस बार मृत्युंजय कुमार सिंह महाविद्या संस्था की ओर से ‘साहित्य सेवी” सम्मान से नवाजे जायेंगे। मृत्युंजय जी पश्चिम बंगाल कैडर के आई.पी.एस. अधिकारी हैं। वे वर्तमान में कमांडेंट जेनरल एवं पुलिस महानिदेशक (होमगॉर्ड), पश्चिम बंगाल के पद पर कार्यरत हैं। वे हिन्दी और भोजपुरी के लेखक, कवि, स्तंभकार, गीतकार और लोक गायक भी हैं। जवाहरलाल नेहरू भारतीय संस्कृति केन्द्र एवं संस्कृति मंत्रालय में भी उनका अहम योगदान रहा है।

पुस्तकः विश्व की प्राचीनतम सभ्यता लेखकः पं. अनूप कुमार वाजपेयी,कई पुरस्कारों से पुरस्कृत समीक्षा प्रकाशन, दिल्ली, मुजफ्फरपुर, मूल्य-2000 रुपये लेखक ने राजमहल पहाड़ियों और चट्टानों पर संसार के प्राचीनतम आदिमानव के पदचिन्ह ढूंढ निकाले। पता-वाजपेयी निलयम, नया पारा, दुमका झारखंड

पुस्तकः विश्व की प्राचीनतम सभ्यता लेखकः पं. अनूप कुमार वाजपेयी,कई पुरस्कारों से पुरस्कृत समीक्षा प्रकाशन, दिल्ली, मुजफ्फरपुर, मूल्य-2000 रुपये लेखक ने राजमहल पहाड़ियों और चट्टानों पर संसार के प्राचीनतम आदिमानव के पदचिन्ह ढूंढ निकाले। पता-वाजपेयी निलयम, नया पारा, दुमका झारखंड

मृत्युंजय जी 23 जनवरी 2020 को पुस्तक मेला में उस दिन के विशेष सम्मानित अतिथि होंगे। साथ ही भारत की भाषा नीति और भारतीय संस्कृति पर परिचर्चा के मुख्य वक्ता होंगे। उनके लेखन, उपन्यास और कवि हृदय के प्रसंगों पर तो चर्चा होगी ही, साथ ही उनका विरल भोजपुरी गायन के रसास्वादन का भी अवसर मिलेगा। इसी दिन समारोहपूर्वक उन्हें “साहित्य सेवी” सम्मान से अलंकृत किया जायेगा।

Leave A Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: