चिटफंड घोटाले के सज़ायाफ्ता लोग साध रहे राज्यपाल पर निशानाः विजयवर्गीय

रोड शो में बोले भाजपा के केंद्रीय प्रभारी, एनआरसी पर तृणमूल बना रही भय का माहौल

0 116

कालियागंज में भाजपा उम्मीदवार के पक्ष में किया चुनाव प्रचार
कोलकाता। प. बंगाल की तीन विधानसभा सीटों पर उपचुनाव होने हैं. इस क्रम में भाजपा के केंद्रीय प्रभारी कैलाश विजयवर्गीय ने कालियागंज विधानसभा में रोड शो किया. उन्होंने ममता सरकार और उनकी तृणमूल कांग्रेस पर आरोपों की बौछार की. उन्होंने कहा कि तृणमूल कांग्रेस चुनावों को हर संभव प्रभावित करने की कोशिश कर रही है. राज्य सरकार के एक मंत्री बूथ लूटने की कोशिश की योजना बना रही है. भाजपा इसकी निंदा करती है. उन्होंने तृणमूल कांग्रेस पर एनआरसी के नाम पर लोगों को भयभीत करने का आरोप लगाते हुए कहा कि तृणमूल कांग्रेस लोगों को एनआरसी के नाम पर भय पैदा कर रही है. लोगों को डरा रही है, लेकिन संसद में पहले नागरिकता संशोधन विधेयक आयेगा. नागरिकता संशोधन विधेयक में बांग्लादेश, पाकिस्तान, अफगानिस्तान से आये शरणार्थियों को नागरिकता दी जायेगी. उसके बाद भी एनआरसी लाया जायेगा. उन्होंने कहा कि जो लोग अवैध रूप से भारत में घुसपैठ कर रह रहे हैं तथा गैरकानूनी कार्यकलाप से जुड़े हैं. उन्हें देश से बाहर निकाला जायेगा. श्री विजयवर्गीय ने सोमवार को कालियागंज विधानसभा उपचुनाव में रोड शो किया और भाजपा उम्मीदवार के पक्ष में प्रचार किया. कालियागंज सहित तीन विधानसभा केंद्रों में 25 नवंबर को मतदान है. श्री विजयवर्गीय ने तृणमूल कांग्रेस के सांसद व मंत्री राज्यपाल के खिलाफ जिस तरह की टिप्पणी कर रहे हैं. वो घोर आपत्तिजनक है. टिप्पणी करने वाले सांसद भी वे हैं, जो चिटफंड घोटाले में जेल की हवा खा चुके हैं. ये जेल यात्री सांसद से ज्यादा संवैधानिक मामलों के राज्यपाल जानकार हैं और राज्यपाल पद की मर्यादा को समझते हैं. राज्यपाल सर्वोच्च न्यायालय के वरिष्ठ वकील हैं और संविधान के विशेषज्ञ हैं.

पुस्तकः विश्व की प्राचीनतम सभ्यता लेखकः पं. अनूप कुमार वाजपेयी,कई पुरस्कारों से पुरस्कृत समीक्षा प्रकाशन, दिल्ली, मुजफ्फरपुर, मूल्य-2000 रुपये लेखक ने राजमहल पहाड़ियों और चट्टानों पर संसार के प्राचीनतम आदिमानव के पदचिन्ह ढूंढ निकाले। पता-वाजपेयी निलयम, नया पारा, दुमका झारखंड

पुस्तकः विश्व की प्राचीनतम सभ्यता लेखकः पं. अनूप कुमार वाजपेयी,कई पुरस्कारों से पुरस्कृत समीक्षा प्रकाशन, दिल्ली, मुजफ्फरपुर, मूल्य-2000 रुपये लेखक ने राजमहल पहाड़ियों और चट्टानों पर संसार के प्राचीनतम आदिमानव के पदचिन्ह ढूंढ निकाले। पता-वाजपेयी निलयम, नया पारा, दुमका झारखंड

Leave A Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: