संपूर्णाः महिलाओं को स्वावलंबी बनाने का अभियान

0 481

कोलकाता। कोलकाता की महिला उद्यमी पुष्पा यादव संपूर्णा नामक संस्था बनाकर महिला स्वावलंबन की दिशा में अनोखा अभियान चला रही हैं। हाल में उन्होंने सुष्मिता देव वर्मा नामक महिला की रंवींद्र संगीत की सीडी लांच की। तीन और सीडी लांच करने की तैयारी है। महिलाओं को अपने पांवों पर खड़ा करने के लिए वे संपूर्णा की ओर से कार्यशालाएं आयोजित कर प्रशिक्षण कार्यक्रम चलाती हैं। उनके लिए रोजगार के अवसरों को तलाशने का काम करती हैं और जरूरत पड़ने पर उनकी आर्थिक सहायता के लिए फंड भी इकट्ठा करती हैं। संस्था का फेसबुक और सोशल साइटों पर पेज है जिससे काफी संख्या में महिलाएं जुड़ी हुई हैं। जल्द ही वे संपूर्णा का एनजीओ के रूप में निबंधन कराने वाली हैं।

पुस्तकः विश्व की प्राचीनतम सभ्यता लेखकः पं. अनूप कुमार वाजपेयी,कई पुरस्कारों से पुरस्कृत समीक्षा प्रकाशन, दिल्ली, मुजफ्फरपुर, मूल्य-2000 रुपये लेखक ने राजमहल पहाड़ियों और चट्टानों पर संसार के प्राचीनतम आदिमानव के पदचिन्ह ढूंढ निकाले। पता-वाजपेयी निलयम, नया पारा, दुमका झारखंड

पुस्तकः विश्व की प्राचीनतम सभ्यता लेखकः पं. अनूप कुमार वाजपेयी,कई पुरस्कारों से पुरस्कृत समीक्षा प्रकाशन, दिल्ली, मुजफ्फरपुर, मूल्य-2000 रुपये लेखक ने राजमहल पहाड़ियों और चट्टानों पर संसार के प्राचीनतम आदिमानव के पदचिन्ह ढूंढ निकाले। पता-वाजपेयी निलयम, नया पारा, दुमका झारखंड

पुष्पा यादव बताती हैं कि करीब तीन वर्ष पहले उन्होंने एक कामवाली की बेटी की शादी के लिए फंड इकट्ठा किया था। शादी हो गई लेकिन कुछ ही समय बाद सके पति ने से छोड़ दिया। इस घटना के बाद उन्होंने महसूस किया कि बेटियों का घर बसा देना ही काफी नहीं है। उन्हें स्वावलंबी बनाना जरूरी है ताकि किसी भी परिस्थिति का सामना करने में वे सक्षम हो सकें। इसी सोच के तहत उन्होंने संपूर्णा संस्था का गठन किया और महिला स्वावलंबन के अभियान की शुरुआत की। एनजीओ का पंजीयन हो जाने के बाद वे इस अभियान को और व्यवस्थित रूप दे सकेंगी।

Leave A Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: