झारखंड में COVID-19 का चौथा केस, राज्य में 1.34 लाख होम क्वॉरन्टीन

0 201

हिंदपीढ़ी बना कोरोना हॉटस्पॉट

पुस्तकः विश्व की प्राचीनतम सभ्यता लेखकः पं. अनूप कुमार वाजपेयी,कई पुरस्कारों से पुरस्कृत समीक्षा प्रकाशन, दिल्ली, मुजफ्फरपुर, मूल्य-2000 रुपये लेखक ने राजमहल पहाड़ियों और चट्टानों पर संसार के प्राचीनतम आदिमानव के पदचिन्ह ढूंढ निकाले। पता-वाजपेयी निलयम, नया पारा, दुमका झारखंड

पुस्तकः विश्व की प्राचीनतम सभ्यता लेखकः पं. अनूप कुमार वाजपेयी,कई पुरस्कारों से पुरस्कृत समीक्षा प्रकाशन, दिल्ली, मुजफ्फरपुर, मूल्य-2000 रुपये लेखक ने राजमहल पहाड़ियों और चट्टानों पर संसार के प्राचीनतम आदिमानव के पदचिन्ह ढूंढ निकाले। पता-वाजपेयी निलयम, नया पारा, दुमका झारखंड

हिंदपीढ़ी वही इलाका है जहां से राज्य का पहला कोरोना केस आया था. 31 मार्च को 22 साल की जिस महिला को कोरोना पॉजिटिव पाया गया था, वो मलेशिया की नागरिक है. ये महिला दिल्ली में निजामुद्दीन मरकज में तबीलीग जमात में गई थी. इस मामले के सामने आने के बाद पूरे हिंदपीढ़ी इलाके को सील किया गया था. साथ ही ये महिला जिन घरों में गई थीं, उन्हें क्वॉरन्टीन किया गया था. चौथे केस से जुड़ी महिला की कोई ट्रेवल हिस्ट्री नहीं है. आशंका है कि ये महिला मलेशिया से आई महिला के संपर्क में आई थी.

बाकी मामले

झारखंड में दूसरा केस हजारीबाग जिले से आया था. इसमें एक मजदूर पश्चिम बंगाल से पैदल चलते हुए हजारीबाग आया था. तबीयत बिगड़ने पर उसे अस्पताल में भर्ती किया गया और फिर सैंपल रिम्स में भेजे गए. कोरोना पॉजिटिव पाए जाे के बाद उसे हजारीबाग मेडिकल कॉलेज के आइसोलेशन वार्ड में रखा गया है.

झारखंड का तीसरा केस बोकारो को 5 अप्रैल को मिला. यहां एक महिला को पॉजिटिव पाया गया. ये महिला 5 लोगों के साथ बांग्लादेश की की यात्रा कर चुकी है.

कोविड 19 से लड़ने की हल्की तैयारी

झारखंड में अब तक 1004 लोगों के सैंपल की जांच हुई है. 6 अप्रैल को जारी झारखंड सरकार कोविड 19 बुलेटिन के मुताबिक इसमें से 842 लोगों की रिपोर्ट निगेटिव आई है.

कोरोना से लड़ने के लिए मेडिकल सुविधाओं की बात करें तो राज्य में दो टेस्टिंग सेंटर हैं.

Leave A Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: