कांग्रेसी नेता विजय सहाय की सड़क दुर्घटना में मौत

0 74

रांची। पूर्व केंद्रीय मंत्री के सहयोगी धुर्वा सेक्टर 3 निवासी विजय सहाय का निधन हो गया। मेडिका में इलाजरत विजय सहाय ने रविवार देर रात 1:30 बजे अंतिम सांस ली। शनिवार को बड़ा तालाब के समीप एक ऑटो से टक्कर होने के कारण विजय सहाय बाईक से सड़क पर गिर गए थे। जिससे उनके सिर के पिछले हिस्से में चोट आयी और वह बेहोश हो गए थे। जिसके बाद स्थानीय लोगों ने उठाकर उन्हें पहले नागरमल मोदी सेवा सदन ले गए। लेकिन डाक्टरों ने गंभीर स्थिति को देखते हुए उन्हें रिम्स रेफर कर दिया था।

पुस्तकः विश्व की प्राचीनतम सभ्यता लेखकः पं. अनूप कुमार वाजपेयी,कई पुरस्कारों से पुरस्कृत समीक्षा प्रकाशन, दिल्ली, मुजफ्फरपुर, मूल्य-2000 रुपये लेखक ने राजमहल पहाड़ियों और चट्टानों पर संसार के प्राचीनतम आदिमानव के पदचिन्ह ढूंढ निकाले। पता-वाजपेयी निलयम, नया पारा, दुमका झारखंड

पुस्तकः विश्व की प्राचीनतम सभ्यता लेखकः पं. अनूप कुमार वाजपेयी,कई पुरस्कारों से पुरस्कृत समीक्षा प्रकाशन, दिल्ली, मुजफ्फरपुर, मूल्य-2000 रुपये लेखक ने राजमहल पहाड़ियों और चट्टानों पर संसार के प्राचीनतम आदिमानव के पदचिन्ह ढूंढ निकाले। पता-वाजपेयी निलयम, नया पारा, दुमका झारखंड

रिम्स के डाक्टरों ने भी उसे मेडिका हॉस्पिटल रेफर कर दिया। शनिवार को करीब एक बजे उन्हें मेडिका में भर्ती कराया गया। जिसके बाद उनकी स्थिति गंभीर बनी रही। रविवार को देर रात 1:30 बजे डाक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। पोस्टमार्टम के बाद उनका अंतिम संस्कार सिठियों स्थित शमशान घाट पर किया गया। विजय सहाय के निधन पर पूर्व केंद्रीय मंत्री सुबोध कांत सहाय, प्रदेश कांग्रेस के प्रवक्ता राजेश गुप्ता, दीपक लाल, पूर्व पार्षद ज्योति लकड़ा, राजन वर्मा, सुधीर सिंह, सरफे आलम, डॉ असलम परवेज, डॉ जावेद अख्तर, अरूप राय, दीपक प्रसाद, सुदेश कुमार, रोहित सिन्हा, संजीव कुमार, नवल किशोर सिंह, रतन श्रीवास्तव, निरंजन शर्मा, मुन्नू झा, राजू राम, प्रकाश राम सहित अन्य कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने गहरा शोक व्यक्त किया है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: