किसानों-मजदूरों, छोटे व मंझोले कारोबारियों को भी मिलेगा आर्थिक पैकेज का लाभ : अजय राय

0 107

 रांची। इंडियन कनफेडरेशन ऑफ लेबर( आईसीएल) के राष्ट्रीय महासचिव व भाजपा नेता अजय राय ने कहा है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के राष्ट्र के नाम संदेश से देशवासियों में नई ऊर्जा का संचार हुआ है। उन्होंने कहा कि इस पैकेज से देश के अन्नदाता किसानों, रोज कमाने-खाने वाले मजदूरों के अलावा छोटे और मंझोले कारोबारियों को भी काफी राहत मिलेगी।
अजय राय ने कहा कि प्रधानमंत्री ने राष्ट्र को संबोधित करते हुए यह संदेश भी दिया कि स्वदेशी वस्तुओं को बढ़ावा देने से हम तेजी से आत्मनिर्भरता की ओर सफलतापूर्वक अग्रसर हो सकते हैं। देश में निर्मित सामग्रियों का अधिक से अधिक उपयोग कर हम अपनी आर्थिक स्थिति भी मजबूत करने में सफल हो सकते हैं। श्री राय ने कहा कि प्रधानमंत्री ने अपने संबोधन में 20 लाख करोड़ के आर्थिक पैकेज की घोषणा कर इसके जरिए आपदा को अवसर में बदलने का भी मार्ग प्रशस्त किया है। “आत्मनिर्भर भारत अभियान” की घोषणा कर उन्होंने आर्थिक पैकेज के माध्यम से देश में पस्त पड़े कारोबार जगत को संकट से उबारने और अर्थव्यवस्था मजबूत करने की दिशा में भी कदम बढ़ाया है। यह प्रधानमंत्री की दूरदर्शिता का परिचायक है।

पुस्तकः विश्व की प्राचीनतम सभ्यता लेखकः पं. अनूप कुमार वाजपेयी,कई पुरस्कारों से पुरस्कृत समीक्षा प्रकाशन, दिल्ली, मुजफ्फरपुर, मूल्य-2000 रुपये लेखक ने राजमहल पहाड़ियों और चट्टानों पर संसार के प्राचीनतम आदिमानव के पदचिन्ह ढूंढ निकाले। पता-वाजपेयी निलयम, नया पारा, दुमका झारखंड

पुस्तकः विश्व की प्राचीनतम सभ्यता लेखकः पं. अनूप कुमार वाजपेयी,कई पुरस्कारों से पुरस्कृत समीक्षा प्रकाशन, दिल्ली, मुजफ्फरपुर, मूल्य-2000 रुपये लेखक ने राजमहल पहाड़ियों और चट्टानों पर संसार के प्राचीनतम आदिमानव के पदचिन्ह ढूंढ निकाले। पता-वाजपेयी निलयम, नया पारा, दुमका झारखंड

देशवासी विगत कुछ दिनों से आर्थिक पैकेज की घोषणा की बेसब्री से इंतजार कर रहे थे। क्योंकि इसके पूर्व भी सरकार और रिजर्व बैंक की तरफ से जो राहत दी गई थी, वह कोरोना वायरस के संक्रमण से उपजे भीषण संकट को देखते हुए अपर्याप्त थी। इसके माध्यम से देश में सप्लाई चेन को मजबूत करने, स्वदेशी उत्पादों की गुणवत्ता बेहतर करने सहित स्थानीय उत्पादों की खपत बढ़ाने में भी मदद मिलेगी। उन्होंने कहा कि इस समय देश विषम परिस्थितियों से गुजर रहा है। ऐसे में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का राष्ट्र के नाम संदेश संजीवनी से कम नहीं है।

उन्होंने कहा कि वर्तमान समय की चुनौतियों का सामना करते हुए इन चुनौतियों को अवसर के रूप में परिवर्तित करने की देश के छोटे-बड़े कारोबारियों से प्रधानमंत्री की अपील का सकारात्मक परिणाम जल्द सामने आएगा। उनके इस संदेश से देश को आत्मनिर्भर बनाने के लक्ष्य को आसानी से हासिल किया जा सकेगा। यही नहीं, इससे आवश्यक आर्थिक सुधारों का भी मार्ग प्रशस्त होगा। उन्होंने कहा कि वैश्विक महामारी कोरोना के कारण देश में आर्थिक असंतुलन की स्थिति उत्पन्न हो गई है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देशहित में लाॅकडाउन को चरणबद्ध तरीके से समाप्त करने की दिशा में कदम उठाया है। इस रणनीति के तहत कोविड-19 के बढ़ते संक्रमण को नियंत्रित किया जा सकता है। श्री राय ने कहा कि वर्तमान संकट के समय बेशुमार चुनौतियां हैं, लेकिन इसका तोड़ निकालने में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कोई कोर-कसर बाकी नहीं छोड़ी है। यह देशवासियों के लिए शुभ संकेत है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: