डायन बिसाही का आरोप लगाकर गोतनी का मुंह दांत से नोचा,मांस खाया

दो महिलाओं की पिटाई कर गंभीर रूप से कर दिया घायल

0 69

झारखंड में डायन बिसाही का अंधविश्वास कायम है। थोड़े-थोड़े अंतराल पर वहां से डायन प्रताड़ना की खबरें आती रहती हैं। अभी घाघरा थाना क्षेत्र के गम्हरिया गांव में डायन बिसाही के आरोप में गांव के ही 45 वर्षीय तेम्बो उरांव और उसकी चाची सास बिपैत उरांव का उसी के रिश्तेदार चाचा ससुर ठडुपा उरांव सास बांधो देवी गोतनी चामू उरांव और ननद रीना उरांव ने मारपीट कर गंभीर रूप से घायल कर दिया। मारपीट जब बहुत ज्यादा बढ़ गई तब गांव के ही लोगों ने मध्यस्थता करके दोनों को छुड़ाया।

पुस्तकः विश्व की प्राचीनतम सभ्यता लेखकः पं. अनूप कुमार वाजपेयी,कई पुरस्कारों से पुरस्कृत समीक्षा प्रकाशन, दिल्ली, मुजफ्फरपुर, मूल्य-2000 रुपये लेखक ने राजमहल पहाड़ियों और चट्टानों पर संसार के प्राचीनतम आदिमानव के पदचिन्ह ढूंढ निकाले। पता-वाजपेयी निलयम, नया पारा, दुमका झारखंड

पुस्तकः विश्व की प्राचीनतम सभ्यता लेखकः पं. अनूप कुमार वाजपेयी,कई पुरस्कारों से पुरस्कृत समीक्षा प्रकाशन, दिल्ली, मुजफ्फरपुर, मूल्य-2000 रुपये लेखक ने राजमहल पहाड़ियों और चट्टानों पर संसार के प्राचीनतम आदिमानव के पदचिन्ह ढूंढ निकाले। पता-वाजपेयी निलयम, नया पारा, दुमका झारखंड

तब तक दोनों ही पीड़िता गंभीर रूप से घायल हो चुकी थीं। बिपैत ने बताया कि चामू उरांव उसके मुंह में दांत काट कर उसका मांस भी खा गई और कह रही थी कि दोनों ही को किसी भी स्थिति में रहने नहीं देंगे। डायन बिसाही करके पूरे गांव को बर्बाद कर रही हैं। इसलिए दोनों लोगों को हत्या कर ही देंगे। पूरे मामले को लेकर के घाघरा थाना में लिखित शिकायत पीड़िता के द्वारा कर दिया गया है।

इधर पुलिस पूरे मामले में जांच कर रही है। इधर थाना प्रभारी अभिनव कुमार ने बताया कि पूरे मामले में गंभीरता को देखते हुए प्राथमिकी दर्ज कर ली गई है और जांच की जा रही है। दोषी छोडे नहीं जाएंगे। डायन बिसाही एक अंधविश्वास है। इस तरह का आरोप लगाकर किसी भी तरह से प्रताड़ित करने वाले को बख्शा नहीं जाएगा।

Leave A Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: