स्वस्थ शरीर के लिए मानसिक शांति भी जरूरी : रवि अग्रवाल

0 104

अखिल भारतीय मारवाड़ी युवा मंच के स्थापना दिवस के सेवा सप्ताह के छठे दिन डोरंडा राजेंद्र चौक मे डी क्लब का आयोजन मारवाड़ी युवा मंच रांची दक्षिण शाखा एवं जागृति महिला शाखा के संयुक्त तत्वावधान में किया गया। इस कार्यक्रम में मुख्य रूप से मंच के झारखंड प्रांत के उपाध्यक्ष रोहित शारदा उपस्थित हुए इस अवसर पर उन्होंने कहा कि देश को स्वस्थ रखने के लिए खुद को स्वस्थ रखना आवश्यक है और लोगों को भी स्वस्थ रहने की जानकारी देकर देश सेवा की जा सकती है। इस कार्यक्रम के उद्घाटन करता रांची के सुप्रसिद्ध हड्डी विशेषज्ञ डॉ आनंद बर्मन ने कहा स्वस्थ शरीर के लिए आज के युग में खुद के लिए खाली समय रखना आवश्यक है और अपने कार्य को योजनाबद्ध तरीके से करने से भी शरीर स्वस्थ रहता है। कार्यक्रम के संयोजक रवि अग्रवाल ने कहा स्वस्थ शरीर के लिए मन की शांति आवश्यक है कसरत के साथ दिमागी शांति से भी शरीर को स्वस्थ रखा जा सकता है। कार्यक्रम की संयोजिका मोनिका अग्रवाल सभी अतिथियों का स्वागत किया। धन्यवाद ज्ञापन संजय सुल्तानिया ने दिया। मंच के सचिव पीयूष विजयवर्गीय ने बताया कि कल निवारनपुर में स्क्रीन फ्री चेकअप कैंप लगाया जाएगा फिटनेस मंत्रा बोधराज टावर मैं दिन के 10:30 बजे से 12:30 बजे तक डॉक्टर संतोष मोदी स्किन स्पेशलिस्ट के सुपरविजन में किया जाएगा और इसी कार्यक्रम के साथ सेवा सप्ताह का समापन भी किया जाएगा। कार्यक्रम में मुख्य रूप से झारखंड प्रांत के उपाध्यक्ष रोहित शारदा डॉक्टर आनंद वर्मन मारवाड़ी युवा मंच रांची दक्षिण शाखा के अध्यक्ष कृष्ण कुमार पिलानिया सचिव पियूष विजयवर्गीय कोषाध्यक्ष पवन अग्रवाल, संजय सुलतानिया, रवि अग्रवाल, महिला जागृति शाखा की अध्यक्ष उर्मिला मोटानी, कोषाध्यक्ष अंजना अग्रवाल, बिना शारदा, मोनिका अग्रवाल सहित मंच के अन्य सदस्य उपस्थित थे ‌ इस आशय की जानकारी मंच के मीडिया प्रभारी मोनू चूड़ीवाला ने दी।

पुस्तकः विश्व की प्राचीनतम सभ्यता लेखकः पं. अनूप कुमार वाजपेयी,कई पुरस्कारों से पुरस्कृत समीक्षा प्रकाशन, दिल्ली, मुजफ्फरपुर, मूल्य-2000 रुपये लेखक ने राजमहल पहाड़ियों और चट्टानों पर संसार के प्राचीनतम आदिमानव के पदचिन्ह ढूंढ निकाले। पता-वाजपेयी निलयम, नया पारा, दुमका झारखंड

पुस्तकः विश्व की प्राचीनतम सभ्यता लेखकः पं. अनूप कुमार वाजपेयी,कई पुरस्कारों से पुरस्कृत समीक्षा प्रकाशन, दिल्ली, मुजफ्फरपुर, मूल्य-2000 रुपये लेखक ने राजमहल पहाड़ियों और चट्टानों पर संसार के प्राचीनतम आदिमानव के पदचिन्ह ढूंढ निकाले। पता-वाजपेयी निलयम, नया पारा, दुमका झारखंड

Leave A Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: