मदर्स इंटरनेशनल स्कूल के छात्र शैक्षणिक भ्रमण पर

* छात्रों का ज्ञानवर्द्धन शैक्षणिक भ्रमण का मुख्य उद्देश्य : डॉ.रोमी झा

0 77

रांची। सुदूरवर्ती ग्रामीण क्षेत्र में शिक्षा का अलख जगा रही मदर्स इंटरनेशनल स्कूल के छात्र शैक्षणिक भ्रमण के क्रम में मुंबई व आसपास के इलाकों के दौरे पर हैं। इस दौरान छात्रों ने मुंबई स्थित भारतीय नौसेना के डॉक यार्ड पर आई एन एस विराट, आई एन एस कोच्चि व आई एन एस चेन्नई सहित नौसेना के अन्य जहाजों का अवलोकन किया। छात्र भारतीय नौसेना के जांबाज अधिकारियों से मुलाकात कर देश सेवा के प्रति उनके जज्बे और जुनून से भी रूबरू हुए।

पुस्तकः विश्व की प्राचीनतम सभ्यता लेखकः पं. अनूप कुमार वाजपेयी,कई पुरस्कारों से पुरस्कृत समीक्षा प्रकाशन, दिल्ली, मुजफ्फरपुर, मूल्य-2000 रुपये लेखक ने राजमहल पहाड़ियों और चट्टानों पर संसार के प्राचीनतम आदिमानव के पदचिन्ह ढूंढ निकाले। पता-वाजपेयी निलयम, नया पारा, दुमका झारखंड

पुस्तकः विश्व की प्राचीनतम सभ्यता लेखकः पं. अनूप कुमार वाजपेयी,कई पुरस्कारों से पुरस्कृत समीक्षा प्रकाशन, दिल्ली, मुजफ्फरपुर, मूल्य-2000 रुपये लेखक ने राजमहल पहाड़ियों और चट्टानों पर संसार के प्राचीनतम आदिमानव के पदचिन्ह ढूंढ निकाले। पता-वाजपेयी निलयम, नया पारा, दुमका झारखंड

छात्रों की टोली अपने शिक्षक विनीत कुमार, रेखा कुमारी व फ्रांसिस विलियम के नेतृत्व में सिद्धिविनायक मंदिर, फिल्म सिटी, गेटवे ऑफ इंडिया, छत्रपति शिवाजी टर्मिनस, ताज होटल सहित अन्य दर्शनीय पर्यटन स्थलों का भी भ्रमण किया। विदित हो कि मदर्स इंटरनेशनल स्कूल के छात्रों का एक दल अपने शिक्षकों के नेतृत्व में विगत 20 नवंबर को रांची से शैक्षणिक भ्रमण के तहत मुंबई के लिए प्रस्थान किया था। सभी छात्र 26 नवंबर को वापस रांची पहुंचेंगे। इस क्रम में छात्रों ने मुंबई स्थित कई ऐतिहासिक पर्यटन स्थलों का भी भ्रमण किया।

इस संबंध में स्कूल की प्राचार्य डॉ. रोमी झा ने बताया कि शैक्षणिक भ्रमण का मुख्य उद्देश्य छात्रों का ज्ञानवर्द्धन और उत्साहवर्द्धन करना है। शैक्षणिक भ्रमण से छात्रों का ज्ञान तो विकसित होता ही है, इसके साथ ही उनके आत्मविश्वास में भी वृद्धि होती है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: