झारखंड में गैर भाजपा सरकार अपनी तिजोरी भरने में मस्त रही : अजय राय

0 119

रांची / जमशेदपुर। झारखंड प्रदेश भाजपा मीडिया प्रबंध समिति के सदस्य और कोल्हान प्रमंडल मीडिया प्रभारी अजय राय ने कहा है कि झारखंड में गैर भाजपाई सरकारों में शामिल मंत्री अपनी तिजोरी भरने में मस्त रहे। अपने कार्यकाल के दौरान गैर भाजपाई सरकारों ने कभी जनहित के कार्यों को तवज्जो नहीं दिया। नतीजतन उनके कार्यकाल के दौरान विकास का पहिया थम गया था। वहीं, रघुवर सरकार के विगत पांच वर्षों के शासनकाल में विकास गति पकड़ा और यहां पहली बार सुशासन देने वाली स्थिर सरकार ने सफलतापूर्वक अपना कार्यकाल पूरा किया।

पुस्तकः विश्व की प्राचीनतम सभ्यता लेखकः पं. अनूप कुमार वाजपेयी,कई पुरस्कारों से पुरस्कृत समीक्षा प्रकाशन, दिल्ली, मुजफ्फरपुर, मूल्य-2000 रुपये लेखक ने राजमहल पहाड़ियों और चट्टानों पर संसार के प्राचीनतम आदिमानव के पदचिन्ह ढूंढ निकाले। पता-वाजपेयी निलयम, नया पारा, दुमका झारखंड

पुस्तकः विश्व की प्राचीनतम सभ्यता लेखकः पं. अनूप कुमार वाजपेयी,कई पुरस्कारों से पुरस्कृत समीक्षा प्रकाशन, दिल्ली, मुजफ्फरपुर, मूल्य-2000 रुपये लेखक ने राजमहल पहाड़ियों और चट्टानों पर संसार के प्राचीनतम आदिमानव के पदचिन्ह ढूंढ निकाले। पता-वाजपेयी निलयम, नया पारा, दुमका झारखंड

उन्होंने कहा कि विगत वर्षों में झारखंड की गैर भाजपाई सरकारों ने आर्थिक रूप से कमजोर वर्गों के लोगों के लिए भी कुछ भी नहीं किया। वहीं, पिछले पांच वर्षों में भाजपा की रघुवर सरकार ने आर्थिक रूप से पिछड़े हर वर्ग के लोगों को आरक्षण देने का काम किया। हर वर्ग, हर क्षेत्र और हर तबके के लोगों को साथ लेकर चलना भाजपा सरकार की प्राथमिकता रही है। रघुवर सरकार ने जनहित में कल्याणकारी योजनाओं को धरातल पर उतारने में सफलता प्राप्त की। उन्होंने कहा कि नीति आयोग द्वारा देशभर की जिलों की रैंकिंग में झारखंड के जिलों ने हर सूचकांक में बेहतर प्रदर्शन किया है।

भाजपा सरकार ने मुख्यमंत्री तीर्थ योजना का शुभारंभ किया। जिसमें आर्थिक रूप से कमजोर और गरीबों को देश के महत्वपूर्ण तीर्थ स्थानों का दर्शन कराया जा रहा है। उन्होंने भाजपा के घोषणा पत्रों में किये गए 2022 के लक्ष्य की चर्चा करते हुए कहा कि आर्थिक रूप से कमजोर वर्गों के विद्यार्थियों को प्री-मैट्रिक और पोस्ट-मैट्रिक छात्रवृति योजना के तहत 2200 और 7500 रुपए देने की प्रावधान किया गया है। वहीं, आर्थिक रूप से कमजोर वर्गों की जनसंख्या का गहन सर्वेक्षण कार्य कर, प्रतिवेदन प्राप्त होने के छह माह के अंदर सरकारी नौकरी और शिक्षण संस्थानों में उचित आरक्षण की व्यवस्था की गई है। इसके पूर्व की गैर भाजपाई सरकारों ने कभी ऐसी कल्याणकारी और महत्वाकांक्षी योजनाओं को धरातल पर उतारने की कोशिश नहीं की, जिससे आमजन का लाभ हो सके। उन्होंने विधानसभा चुनाव में भाजपा को भारी मतों से जिताने की जनता से अपील की।

Leave A Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: