मां अमिया देवी मेमोरियल पब्लिक स्कूल के छात्रों का वनभोज सह शैक्षणिक भ्रमण कार्यक्रम आयोजित

* शिक्षकों ने पर्यावरण संरक्षण के लिए पौधरोपण करने का दिया संदेश

0 121

विनय मिश्रा
चक्रधरपुर। ख्यातिप्राप्त शैक्षणिक संस्थान मां अमिया देवी मेमोरियल पब्लिक स्कूल के छात्र वनभोज सह शैक्षणिक भ्रमण कार्यक्रम के तहत सोमवार को बाघमारा डैम पर गए। इस दौरान छात्रों ने वहां के प्राकृतिक व मनोरम दृश्यों का अवलोकन किया। स्कूल के शिक्षकों ने छात्रों को वर्तमान समय में गहराते पर्यावरणीय संकट के मद्देनजर प्राकृतिक संसाधनों को संरक्षित रखने का संदेश दिया। स्कूल के शिक्षक किशोर कुमार महतो ने छात्रों को बताया कि ग्लोबल वार्मिंग से आज पूरा विश्व जूझ रहा है। ऐसे में पर्यावरण को स्वच्छ बनाए रखना मानव और अन्य जीवो के लिए भी अत्यंत जरूरी है। छात्रों को पर्यावरण संरक्षण के लिए अधिक से अधिक पौधरोपण करने की सलाह दी। वनभोज में स्कूल के निदेशक प्रवीण प्रमाणिक, प्रधानाध्यापिका माधुरी प्रमाणिक, शिक्षक चंद्रशेखर प्रधान, भूपति महतो, एसएस प्रधान, काकोली विश्वास, मनोरमा, देवश्री, काजल, विश्वजीत प्रमाणित, वनश्री मजूमदार सहित अन्य शिक्षकगण सहित काफी संख्या में छात्र शामिल हुए।

पुस्तकः विश्व की प्राचीनतम सभ्यता लेखकः पं. अनूप कुमार वाजपेयी,कई पुरस्कारों से पुरस्कृत समीक्षा प्रकाशन, दिल्ली, मुजफ्फरपुर, मूल्य-2000 रुपये लेखक ने राजमहल पहाड़ियों और चट्टानों पर संसार के प्राचीनतम आदिमानव के पदचिन्ह ढूंढ निकाले। पता-वाजपेयी निलयम, नया पारा, दुमका झारखंड

पुस्तकः विश्व की प्राचीनतम सभ्यता लेखकः पं. अनूप कुमार वाजपेयी,कई पुरस्कारों से पुरस्कृत समीक्षा प्रकाशन, दिल्ली, मुजफ्फरपुर, मूल्य-2000 रुपये लेखक ने राजमहल पहाड़ियों और चट्टानों पर संसार के प्राचीनतम आदिमानव के पदचिन्ह ढूंढ निकाले। पता-वाजपेयी निलयम, नया पारा, दुमका झारखंड

Leave A Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: