सिधेश्वर ब्रह्मर्षि गुरुदेव का मिला सबको आशीर्वाद

0 180

कोलकाता । तिरुपति से पधारे विश्व धर्म चेतना मंच के संस्थापक श्री श्री सिधेश्वर गुरुदेव , जिन्होंने धर्म और भारतीय दर्शन का पूरी दुनिया मे प्रचार कर सभ्यता , संस्कार व संस्कृति संस्थापना में अनवरत अपने को आहूत किया है ।
कोलकाता में प्रसिद्ध उद्योगपति व समाजसेवी डॉ युगलकिशोर सर्राफ के घर सिधेश्वरजी महाराज ने सभी भक्तों को अपना आशीर्वाद दिया । इस दौरान श्री सर्राफ के साथ उनकी पुत्रियों – सुमन कनोई , नीना कनोई व पल्लवी केवट ने बालीगंज स्थित आवास में गुरुदेव का स्वागत , सत्कार किया ।
इस क्रम में ऐसे अवसर पर सिद्ध गुरुदेव ने उपस्थित सर्वश्री सीताराम शर्मा व उनकी पत्नी , आईएएस बीपी गोपालका , डॉ सांवर धनानिया , कमल सिंह , भूपेंद्र जैन , अमित शर्मा , उत्तम बनर्जी आदि को आशीष प्राप्त हुआ

पुस्तकः विश्व की प्राचीनतम सभ्यता लेखकः पं. अनूप कुमार वाजपेयी,कई पुरस्कारों से पुरस्कृत समीक्षा प्रकाशन, दिल्ली, मुजफ्फरपुर, मूल्य-2000 रुपये लेखक ने राजमहल पहाड़ियों और चट्टानों पर संसार के प्राचीनतम आदिमानव के पदचिन्ह ढूंढ निकाले। पता-वाजपेयी निलयम, नया पारा, दुमका झारखंड

पुस्तकः विश्व की प्राचीनतम सभ्यता लेखकः पं. अनूप कुमार वाजपेयी,कई पुरस्कारों से पुरस्कृत समीक्षा प्रकाशन, दिल्ली, मुजफ्फरपुर, मूल्य-2000 रुपये लेखक ने राजमहल पहाड़ियों और चट्टानों पर संसार के प्राचीनतम आदिमानव के पदचिन्ह ढूंढ निकाले। पता-वाजपेयी निलयम, नया पारा, दुमका झारखंड

Leave A Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: