बाउरीसाई में दो दिवसीय खेलकूद प्रतियोगिता संपन्न

दौड़ प्रतियोगिता में निर्मल बोदरा बने विजेता

0 146

 चक्रधरपुर। बंदगांव – कराईकेला के बाउरीसाई गांव में दो दिवसीय खेलकूद प्रतियोगिता का समापन शनिवार को हुआ। प्रतियोगिता में बच्चों का दौड़, साईकिल रेस, जवानो का दौड, लड़कों एवं लड़कियों का हण्डी फोड़, लडकियों का म्यूजिकल चेयर समेत कई प्रतियोगिता का आयोजन किया गया। जवानो का सिनियर साईकिल रेस में प्रथम सूरज मेलगांडी तथा द्धितीय सुरेश कोड़ा, जवानो का दौड में प्रथम निर्मल बोदरा तथा सोम गागराई, लडकियों का हंडी फोड में प्रथम करिश्मा महतो, लडकियों का बैलून फोड़ में प्रथम रानी प्रमानिक ,भवानी प्रामाणिक , बच्चों का मेढ़क रेस में सविनाथ बोदरा, निकलिस सामड, बच्चियों के दौड़ में सविता बोदरा, सपनी गागराई, बच्चों के दौड़ में समीर महतो,नंद किशोर प्रामाणिक,साइकिल रेस सूरज मेलगांडी, सुरेश कोड़ा ,मोटरसाइकिल रेस में बिक्की महतो,परमेश्वर महतो,क्रमश: प्रथम व द्धितीय स्थान पर रहे। सभी विजेताओं, उप विजेताओं को बाउरीसाई स्पोर्टिंग क्लब द्धारा पुरस्कृत किया गया। पुरस्कार वितरण में मुख्य अतिथि विधायक सुखराम उराऊं के पुत्र सन्नी उरांव मौजूद थे। . जबकि विशिष्ट अतिथि झामुमो केंद्रीय सदस्य मिथुन गागराई,श्याम गागराई,रंजीत मंडल,त्रिनाथ महतो थे। कार्यक्रम को संबोधित करते हुए सन्नी उरांव ने कहा कि खिलाड़ी अपना हौसला बुलंद रखें। उन्हें कामयाबी जरूर मिलेगी। उन्होंने कहा कि खेल को खेल की भावना से खेलें। उन्हें हर सम्भव मदद की जाएगी। उन्होंने कहा कि खिलाड़ी खेल के माध्यम से भी अपना करियर बना सकते हैं। खिलाड़ियों को भी झारखंड सरकार हर सम्भव मदद कर रही है। मिथुन गागराई ने कहा कि खेलकूद प्रतियोगिता कराने का उद्देश्य खिलाड़ी को अपनी प्रतिभा को लोगों के सामने लाने के लिये की जाती है। झामुमो नेता सह कमेटी के संरक्षक पहलवान महतो ने कहा हमारी कमेटी की इच्छा है कि यहां के खिलाडी खेलकूद में अच्छा प्रदर्शन कर जिला तथा राज्य में अपने गांव एवं माता पिता का नाम रोशन करें। रंजीत मंडल ने कहा कि बंदगांव प्रखंड में खिलाडियों की प्रतिभा में कोई कमी नहीं है। उन्हें तराशने की जरूरत है। प्रतियोगिता को सफल बनाने में मुख्य रुप से संरक्षक पहलवान महतो, जितेन्द्र महतो, , संतानु महतो, नीलकंठ कटीयार, निर्मल महतो का सराहनीय योगदान रहा।

पुस्तकः विश्व की प्राचीनतम सभ्यता लेखकः पं. अनूप कुमार वाजपेयी,कई पुरस्कारों से पुरस्कृत समीक्षा प्रकाशन, दिल्ली, मुजफ्फरपुर, मूल्य-2000 रुपये लेखक ने राजमहल पहाड़ियों और चट्टानों पर संसार के प्राचीनतम आदिमानव के पदचिन्ह ढूंढ निकाले। पता-वाजपेयी निलयम, नया पारा, दुमका झारखंड

पुस्तकः विश्व की प्राचीनतम सभ्यता लेखकः पं. अनूप कुमार वाजपेयी,कई पुरस्कारों से पुरस्कृत समीक्षा प्रकाशन, दिल्ली, मुजफ्फरपुर, मूल्य-2000 रुपये लेखक ने राजमहल पहाड़ियों और चट्टानों पर संसार के प्राचीनतम आदिमानव के पदचिन्ह ढूंढ निकाले। पता-वाजपेयी निलयम, नया पारा, दुमका झारखंड

Leave A Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: