बॉलीवुड अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत ने ननिहाल में कराया अपना मुंडन संस्कार

0 56

बॉलीवुड सिने अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत सोमवार को मुंडन कराने खगड़िया जिले के बोरने स्थित भगवती मंदिर पहुंचे। अपने चहेते स्टार की एक झलक पाने के लिए यहां प्रशंसक बेताब दिखे। नाव से बागमती नदी पार अभिनेता अपनी ननिहाल गांव बोरने स्थान पहुंचे थे।

पुस्तकः विश्व की प्राचीनतम सभ्यता लेखकः पं. अनूप कुमार वाजपेयी,कई पुरस्कारों से पुरस्कृत समीक्षा प्रकाशन, दिल्ली, मुजफ्फरपुर, मूल्य-2000 रुपये लेखक ने राजमहल पहाड़ियों और चट्टानों पर संसार के प्राचीनतम आदिमानव के पदचिन्ह ढूंढ निकाले। पता-वाजपेयी निलयम, नया पारा, दुमका झारखंड

पुस्तकः विश्व की प्राचीनतम सभ्यता लेखकः पं. अनूप कुमार वाजपेयी,कई पुरस्कारों से पुरस्कृत समीक्षा प्रकाशन, दिल्ली, मुजफ्फरपुर, मूल्य-2000 रुपये लेखक ने राजमहल पहाड़ियों और चट्टानों पर संसार के प्राचीनतम आदिमानव के पदचिन्ह ढूंढ निकाले। पता-वाजपेयी निलयम, नया पारा, दुमका झारखंड

यहां ऐतिहासिक माता भगवती के मंदिर में सामाजिक रीति रिवाज के साथ उनका मुंडन संस्कार हुआ। इस अवसर पर अभिनेता सुशांत ने कहा कि उनकी मां का आशीर्वाद और मां देवी का प्यार और बिहार की माटी ने उन्हें यहां खींच लायी है। उन्होंने कहा कि उनकी दो-तीन फिल्में आने वाली है दिल बेचारा है, छिछोरे, ड्राइव आदि जिसे आप सभी हॉल में जाकर निश्चित रूप से देखें। बता दें कि सुशांत का पैतृक घर पूर्णिया जिले के बड़हरा कोठी के मल्डीहा गांव में है।

33 वर्षीय सुशांत सिंह राजपूत का मुंडन संस्कार रीति रिवाज के साथ हुआ। बोरने पहुंचे अभिनेता सबसे माता भगवती मंदिर पहुंचे। मंदिर पहुंचकर सबसे पहले उन्होंने माता का दर्शन किया। फिर ननिहाल स्थित घर में जाकर कुल देवी का आशीर्वाद लिया। उसके बाद फिर मंदिर पहुंचकर समाजिक और हिन्दू रीति रिवाज से उनका मुंडन संस्कार किया गया। हालांकि उनका एक ही लट (बाल) काटा गया।

सेल्फी लेने को बेताब दिखे युवक
सिने स्टार सुशांत 20 वर्षों के बाद अपने ननिहाल बोरने पहुंचे थे। अपने चहेते स्टार की एक झलक पाने और उनके साथ सेल्फी लेने के लिए युवक बेताब दिखे। बता दें कि स्टार के इंतजार में बोरने गांव के लोग पलकें बिछाये बैठे थे। इस दौरान सेल्फी लेने के लिए युवा बैचेन थे। इस दौरान स्थानीय पुलिस को भीड़ को नियंत्रित करने में काफी परेशानी हुई। मुंडन के मौके पर विधायक नीरज कुमार बबलू, एमएलसी नूतन देवी, उनके पिता और मौसी सहित कई रिश्तेदार और सैकड़ों प्रशंसक मौजूद थे।

Leave A Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: