अंगिका लोककथाओं का अनूठा संकलन

0 137

अंग महाजनपद की प्रचलित 69 कहानियों को समेटती पुस्तक “अंगिका लोक-कथाएँ” आकाशवाणी, भागलपुर से सेवानिवृत्त वरीय उद्घोषिका सह प्रसिद्ध लेखिका डॉ0 मीरा झा की पुस्तकों में एक है। हिन्दी में लिखी गयी इस पुस्तक में आँचलिक भाषा की पंक्तियों का भी बखूबी इस्तेमाल किया है लेखिका ने।
प्रकाशक : समीक्षा प्रकाशन
दिल्ली/मुजफ्फरपुर
ISBN : 978- 93- 86181- 76-3
मूल्य : 300 रुपये
लेखिका का सम्पर्क पता – लालकोठी, भागलपुर (बिहार)

पुस्तकः विश्व की प्राचीनतम सभ्यता लेखकः पं. अनूप कुमार वाजपेयी,कई पुरस्कारों से पुरस्कृत समीक्षा प्रकाशन, दिल्ली, मुजफ्फरपुर, मूल्य-2000 रुपये लेखक ने राजमहल पहाड़ियों और चट्टानों पर संसार के प्राचीनतम आदिमानव के पदचिन्ह ढूंढ निकाले। पता-वाजपेयी निलयम, नया पारा, दुमका झारखंड

पुस्तकः विश्व की प्राचीनतम सभ्यता लेखकः पं. अनूप कुमार वाजपेयी,कई पुरस्कारों से पुरस्कृत समीक्षा प्रकाशन, दिल्ली, मुजफ्फरपुर, मूल्य-2000 रुपये लेखक ने राजमहल पहाड़ियों और चट्टानों पर संसार के प्राचीनतम आदिमानव के पदचिन्ह ढूंढ निकाले। पता-वाजपेयी निलयम, नया पारा, दुमका झारखंड

Leave A Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: